ख़बर शेयर करें -

 

देहरादून। आईएएस अधिकारी बंशीधर तिवारी के काम करने का अंदाज बाकी अफसरों से कुछ जुदा है।
जहां अमूमन इतने उच्च ओहदे पर आसीन तमाम अफसर अधीनस्थों पर ही काम का सारा बोझ लाद देते हैं तो वहीं श्री तिवारी का काम करने का स्टाइल दूसरों से अलग है।
अब, आज की बात ही लीजिए, शिक्षा विभाग में विद्या-संवाद कार्यक्रम को लेकर उनके द्वारा अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई। प्रदेशभर में 94 अधिकारियों को यह जिम्मेदारी ब्लॉक एवं जनपद वार सौंपी गयी। इस सूची में चौंकाने वाला नाम जो पहले नंबर पर दर्ज था वह श्री तिवारी का ही था.

चाहते तो वे दूसरों अफसरों को कार्य आवंटित कर भी जिम्मेदारी की इतिश्री कर सकते थे लेकिन सहज, सरल और मृदुभाषी स्वभाव के धनी श्री तिवारी ने अपने लिए भी एक ब्लॉक इस सूची में आवंटित किया। मंशा यही है कि विभाग में रहते हुए छात्रों के लिए संचालित स्कूलों एवं गतिविधियों पर बराबर नजर रखी जा सके।
बता दें कि श्री तिवारी के पास शिक्षा महानिदेशक जैसी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी के अलावा सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग के मुखिया के अलावा मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष जैसा अहम पद भी है। बावजूद छात्रों के प्रति अपनी जिम्मेदारी से उन्होंने जरा भी मुँह नहीं मोड़ा।

By amit

You missed