ख़बर शेयर करें -

देहरादून में आईएएस के खिलाफ खोला कर्मचारियों ने मोर्चा, लगाया हिटलरशाही चलाने का गंभीर आरोप, एक इंस्पेक्टर के इस्तीफे की पेशकश के बाद गरमाया हुआ है माहौल

देहरादून। देहरादून नगर निगम के नगर आयुक्त आईएएस अधिकारी मनुज गोयल पर कर्मचारियों ने उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए निगम में हड़ताल की हुई है। हड़ताल खुलेगी या नहीं आज इस पर फैसला होगा।
उत्पीड़न और भेदभाव का आरोप लगाते हुए सफाई कर्मचारियों के साथ ही नगर निगम के अन्य कर्मचारियों का आक्रोश फूट पड़ा। कर्मचारियों ने कामकाज उप कर निगम के सभी अनुभागों में ताले जड़ दिए। बीते रोज मेयर और नगर आयुक्त ने वार्ता के लिए बुलाया, लेकिन कर्मचारियों ने इन्कार कर दिया। इससे प्रमाणपत्र बनवाने, टैक्स जमा करने आए लोगों को बैरंग लौटना पड़ा था।
सोमवार को अखिल भारतीय सफाई मजदूर संघ के बैनर तले कर्मचारियों ने नगर निगम कार्यालय में सभी अनुभागों में ताले जड़ दिए थे और धरने पर बैठ गए। वहीं, कर्मचारी नगर आयुक्त को इंतजार करते रहे, लेकिन शासन में बैठक में जाने के कारण वह दोपहर को निगम पहुंचे।

ये मांगें उठाई

कर्मचारियों की संख्या लगातार कम हो रही है। कर्मचारियों पर काम का अतिरिक्त दबाव बनाया जा रहा है। इससे कई कर्मचारी मानसिक रूप से परेशान हैं।

समान कार्य का समान वेतन दिया जाए।

सफाई नायकों के पद पर कार्यरत

कार्यवाहक सफाई नायकों का वरिष्ठता के आधार पर समायोजन।

# महिला कर्मचारियों को हाजिरी समय में एक घंटे की अतिरिक्त छूट दी जाए।

स्थायी कर्मचारियों की भांति पार्षद स्वच्छता समिति के कर्मचारियों के मस्ट्रोल भी चेक किए जाएं।

मृतक पर्यावरण मित्र, सामान्य कर्मचारियों के आश्रितों की जल्द नियुक्ति और भेदभाव को दूर किया जाए।

कर्मचारियों के भुगतान में जानबूझकर देर न की जाए, अकारण वेतन न रोका जाए।

पांच सौ पुरुषों की संविदा में भर्ती की जाए।

चेतावनी दी कि तीन दिन में मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई नहीं हुई तो अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की जाएगी।

ये रहे मौजूद

इस दौरान संघ के अध्यक्ष राजेश कुमार, महामंत्री धीरज भारती, ओमप्रकाश, संजय काला, राजेश राजेश, श्याम, कमल, अरविंद सहित सफाई और अन्य कर्मचारी

By amit

You missed