ख़बर शेयर करें -

पीएम ने यूं ही नहीं कहा, देवभूमि आने वाले समय में पूरे विश्व की आध्यात्मिक चेतना के आकर्षण का केंद्र बनेगी

-वर्तमान में उत्तराखंड के चारधामों में तमाम कार्य हैं गतिमान

-श्री बद्रीनाथ एवं श्री केदारनाथ में मास्टर प्लान के तहत चल रहे कार्य

-केदारनाथ धाम एवं हेमकुंड साहिब के लिए रोपवे की आधारशिला रख चुके हैं पीएम मोदी

देहरादून। वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से श्री नरेंद्र मोदी देवभूमि उत्तराखंड के आध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक उत्थान के लिए निरंतर प्रयासरत रहे हैं। यही वजह रही कि आज जब वे वंदे भारत एक्सप्रेस के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे तो वे यह कहने से स्वयं को नहीं रोक पाए कि “देवभूमि आने वाले समय में पूरे विश्व की आध्यात्मिक चेतना के आकर्षण का केंद्र बनेगी”। वहीं, पीएम के विजन के अनूरूप उत्तराखंड की धामी सरकार इस दिशा में लगातार काम कर रही है।
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के कुशल मार्गदर्शन में चारधाम ऑल वेदर रोड से जहां श्री बद्रीनाथ धाम, श्री केदारनाथ धाम की राह सुगम और सरल हुई है तो वहीं, श्री केदारनाथ धाम में मास्टर प्लान के तहत गतिमान पुनर्निर्माण कार्यों ने इस धाम के वैभव को और भी बढ़ाने का कार्य हो रहा है। केदारनाथ धाम परिसर में आदि गुरु शंकराचार्य जी की प्रतिमा स्थापित करने के साथ ही मंदिर से कुछ दूरी पर ध्यान योग गुफाएं भी स्थापित की गई हैं। खुद मोदी जब वर्ष 2019 में केदारनाथ भ्रमण पर आए थे तो उन्होंने खुद इन ध्यान गुफा में साधना की थी। आज इन गुफाओं में साधना के लिए वेटिंग रहती है। इसी तरह, श्री बद्रीनाथ धाम में भी मास्टर प्लान के तहत सौन्दर्यकरण के तमाम कार्य चल रहे हैं जो कि आने वाले दिनों में धाम की भव्यता को और बढ़ाएंगे।
वहीं, प्रधानमंत्री मोदी ने गत वर्ष अक्टूबर में श्री केदरनाथ धाम एवं श्री हेमकुंड साहिब के लिए रोपवे की आधारशिला रखकर इन धामों तक श्रद्धालुओं की पहुँच को भी सुगम बनाने के कार्य का आगाज कर दिया है। आने वाले समय में इन रोपवे के निर्माण से श्रद्धालुओं को आवागमन में काफी सहूलियत होगी। यही नहीं, अपने माणा दौरे के दौरान मुख्यमंत्री धामी की बात पर मुहर लगाते हुए प्रधानमंत्री ने माणा को देश के प्रथम गांव के रूप में संबोधित किया तो आज इस गांव की पहचान एकाएक प्रथम गाँव के रूप में स्थापित हो गई है। इसके अलावा हरिद्वार में हरकी पैड़ी कॉरिडोर को लेकर भी प्रधानमंत्री अपनी प्रतिबद्धता जाहिर कर चुके हैं। प्रधानमंत्री के कहे अनुसार, उत्तराखंड की धामी सरकार भी उनके विजन के अनूरूप इस दिशा में लगातार काम कर रही है।

बातों-बातों में थपथपाई सीएम धामी की पीठ…

प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड आज जिस तरह से कानून व्यवस्था को सर्वोपरि रखते हुए विकास के अभियान को आगे बढ़ा रहा है, वो बहुत सराहनीय है। ये इस देवभूमि की पहचान को संरक्षित करने के लिए भी अहम है। मुख्यमंत्री की इस मुहिम को प्रधानमंत्री ने न केवल सराहा बल्कि इस कार्य के लिए मुख्यमंत्री की पीठ भी थपथपाई।

By amit

You missed